June29 , 2022

    अखिलेश यादव के खिलाफ सैफई में केस दर्ज, जानें क्या है मामला?

    Related

    McGrath on Tendulkar’s ‘shoulder-before-wicket’ dismissal: Sachin still thinks it was going over stumps

    ऑस्ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा ने...

    South Africa batter Bavuma ruled out of England tour

    कोहनी की चोट से बाहर होने के बाद...

    Babar Azam surpasses Kohli as world no 1 T20 batter for longest period

    पाकिस्तान के कप्तान बाबर आज़म ने नवीनतम ICC...

    Share


    इटावा: उत्तर प्रदेश में तीसरे चरण के मतदान के दौरान मतदान केंद्र पर मीडिया से बातचीत करने के मामले में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के खिलाफ आदर्श आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है.

    जिलाधिकारी श्रुति सिंह ने बताया कि विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान के दौरान अभिनव स्कूल सैफई स्थित मतदान केंद्र पर रविवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव का मीडिया के लोगों से बात करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने की सूचना प्राप्त हुई .

    श्रुति सिंह ने बताया कि मामले को संज्ञान में लेते हुए उपजिलाधिकारी एवं क्षेत्राधिकारी को जांच के लिए कहा गया. उन्होंने बताया कि जांच के उपरांत मामले में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए सैफई थाने में सपा अध्यक्ष के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है.

    बता दें रविवार को समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और उनकी और पूर्व सांसद डिंपल यादव ने इटावा जिले के अपने पैतृक गांव सैफई में मतदान किया. मुलायम व्हीलचेयर पर मतदान केंद्र पर पहुंचे थे.

    तीसरे चरण में 60 फीसदी से अधिक मतदान
    गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के तहत राज्य के 16 जिलों की 59 विधानसभा सीटों पर रविवार को औसतन 60 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ. निर्वाचन आयोग के टर्नआउट एप्लीकेशन में दिए गए आंकड़े के मुताबिक, शाम पांच बजे तक औसतन 60.63% मतदान हुआ. तीसरे चरण में 97 महिलाओं समेत कुल 627 प्रत्याशियों की किस्मत इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में कैद हो गई.

    यह भी पढ़ें: 

    बीजेपी के खिलाफ अखिलेश यादव की नो कमेंट वाली रणनीति, जानें क्या है वजह

    लखनऊ में गरजीं प्रियंका गांधी, बीजेपी पर बोला हमला, कहा- युवाओं और किसानों की नहीं, आतंकवाद-पाकिस्तान की बातें हो रहीं

    .



    Source link

    spot_img