June29 , 2022

    पटना पायरेट्स से पंगा लेगी दबंग दिल्ली केसी, पिछले चार मुकाबलों से पटना को नहीं मिली जीत

    Related

    McGrath on Tendulkar’s ‘shoulder-before-wicket’ dismissal: Sachin still thinks it was going over stumps

    ऑस्ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा ने...

    South Africa batter Bavuma ruled out of England tour

    कोहनी की चोट से बाहर होने के बाद...

    Babar Azam surpasses Kohli as world no 1 T20 batter for longest period

    पाकिस्तान के कप्तान बाबर आज़म ने नवीनतम ICC...

    Share


    बुधवार को प्रो कबड्डी लीग (Pro Kabaddi League) सीजन 8 का फाइनल मुकाबला खेला जाएगा, जहां तीन बार की चैंपियन पटना पायरेट्स (Patna Pirates) का सामना पिछले सीजन की उपविजेता दबंग दिल्ली केसी (Dabang Delhi KC) से होगा. ये मुकाबला बेंगलुरु के शेरेटॉन ग्रांड व्हाइटफील्ड में रात 8:30 बजे से खेला जाएगा, जिसका सीधा प्रसारण आप स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क्स और हॉटस्टार पर देख सकते हैं. जहां पटना पायरेट्स चौथी बार फाइनल में पहुंची है और वो इस बार फिर से खिताब जीतना चाहेगी, तो वहीं प्रो कबड्डी लीग सीजन 7 के फाइनल में बंगाल वॉरियर्स (Bengal Warriors) से हारने वाली दबंग दिल्ली लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची है और पहली बार खिताब जीतना चाहेगी.

    नवीन की फॉर्म तय कर सकती है मैच का रिजल्ट

    पीकेएल 8 के फाइनल के मैट पर जब दबंग दिल्ली केसी पटना के खिलाफ मैदान पर उतरेगी, तो टीम के खिलाड़ियो के हौसले बुलंद होंगे. लीग चरण में खेले गए दोनों मुकाबलों में दिल्ली ने पटना को शिकस्त दी थी. हालांकि उस में से एक मैच में नवीन कुमार (Naveen Kumar) मैट पर उतरे थे लेकिन सिर्फ 3 अंक हासिल कर पाए थे. इस सीजन 200 रेड प्वाइंट्स से सिर्फ 6 अंक दूर नवीन कुमार दिल्ली के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं और उनकी फाइनल में फॉर्म मैच का नतीजा तय करेगी. इसके अलावा मंजीत छिल्लर (Manjeet Chhillar) बड़े मैच के खिलाड़ी माने जाते हैं, जिनसे पटना के पायरेट्स को सावधान रहना होगा. जोगिंदर नरवाल (Joginder NArwal) और संदीप नरवाल (Sandeep Narwal) के साथ कृष्ण धुल (Krishan Dhull) टीम की डिफेंस को मजबूत करेंगे.

    मोहम्मदरजा होंगे दिल्ली के लिए सबसे बड़ा खतरा

    दूसरी ओर पटना पायरेट्स ने इस सीजन ऐसा खेल दिखाया है, जिसके बाद ये कहना मुश्किल है कि टीम को किसी विभाग में सुधार करने की जरूरत है. टीम की डिफेडर मोहम्मदरजा शादलू (Mohammadreza shadlou) नया कीर्तिमान रच चुके हैं और अब वो फाइनल (PKL Final) में दिल्ली के दबंगों पर कहर बनकर टूटने के लिए तैयार हैं. रेडिंग में सचिन तंवर (Sachin Tanwar), प्रशांत राय (Prashant Rai) और गुमान सिंह (Guman Singh) पर अंक हासिल करने की जिम्मेदारी होती, तो नीरज कुमार (Neeraj Kumar) पटना की दीवार को और ताकत देंगे. पीकेएल इतिहास के एक सीजन में सबसे अधिक हाई-5 लगाने वाले शादलू दिल्ली के लिए सबसे बड़ा खतरा हो सकते हैं. हालांकि भले ही मोहम्मदरजा ने नया रिकॉर्ड बनाया हो, लेकिन पटना के कोच किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं रहतें हैं.

    क्या कहते हैं आंकड़े

    प्रो कबड्डी के इतिहास में पटना पायरेट्स और दबंग दिल्ली केसी के बीच अभी तक 14 मुकाबले खेले गए हैं, जिसमें पटना को 7 बार सफलता मिली है, तो दिल्ली ने तीन बार की चैंपियंस को 6 बार शिकस्त दी है. इस सीजन खेले गए दोनों मुकाबलों में पटना पायरेट्स को हार का सामना करना पड़ा था. यही नहीं सीजन 7 में भी पटना को दिल्ली के खिलाफ एक भी जीत नहीं मिली थी. दोनों टीमों के बीच सिर्फ एक मुकाबला बराबरी पर समाप्त हुआ है.

    ये भी पढ़ें: प्रो कबड्डी लीग फाइनल: पटना पायरेट्स और दबंग दिल्ली के बीच होने वाले फाइनल से पहले जानिए रोचक आंकड़ें

    .



    Source link

    spot_img