September27 , 2022

    रवि शास्त्री ने साहा को पत्रकार से मिली धमकी पर दी प्रतिक्रिया, नए खिलाड़ियों को लेकर कही यह बा

    Related

    Indian Sexy Video | indian sexy video – Busy Inside

    https://www.youtube.com/watch?v=qArw13Pj4fs In this post we are going to review...

    Hindi sexy video | Sexy video Hindi 2022 – Busy Inside

      Hindi Sexy Video Suno Deverji https://www.youtube.com/watch?v=xI9uAaZrOio Hindi sexy video has been...

    Dehati sexy video | rustic sexy videos – Busy Inside

    dehati sexy video hd, sexy video dehati, dehati...

    Immusync by Vedi Herbals – एक पूरी तरह से प्राकृतिक इम्युनिटी बूस्टर मेडिसिन

    प्रतिरक्षा तंत्र COVID-19 के हाल के दिनों में, सब कुछ...

    Share


    भारत के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री का मानना ​​है कि उनकी पीढ़ी के खिलाड़ियों का पत्रकारों के साथ जैसा बेहतर तालमेल था, वह मौजूदा दौर के क्रिकेटरों और उन्हें कवर करने वाले लेखकों की तुलना में कहीं बेहतर था. भारत के लिए 80 टेस्ट और 150 वनडे खेलने वाले इस पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि मीडिया हर युग और समय से जुड़ रहा है. इसमें काफी विकास हुआ है. मीडिया हाउस, इलेक्ट्रॉनिक और अब डिजिटल मीडिया के आने के बाद खिलाड़ियों के लिए दोस्त बने रहना बहुत मुश्किल है.

    शास्त्री ने खालिद ए-एच अंसारी के एक संस्मरण ‘इट्स ए वंडरफुल वर्ल्ड’ के लॉन्च पर कहा, ‘‘ मुझे लगता है कि इसमें काफी बदलाव हुआ है. जब हम खेल रहे थे तब से काफी बदलाव हुआ है. पत्रकारों के साथ हमारे जो समीकरण थे, वह आज के खिलाड़ियों के मुकाबले काफी बेहतर थे. मैं पिछले सात सालों से ड्रेसिंग रूम का हिस्सा हूं.’’

    शास्त्री के इन बातों के संदर्भ को समझना मुश्किल नहीं था क्योंकि हाल ही में भारत के अनुभवी विकेटकीपर रिद्धिमान साहा ने आरोप लगाया था कि एक पत्रकार ने साक्षात्कार के लिए उन्हें कथित रूप से ‘धमकी दी थी. शास्त्री उन प्रमुख पूर्व खिलाड़ियों में से एक थे जिन्होंने साहा से पत्रकार का सार्वजनिक रूप से नाम लेने और उन्हें शर्मसार करने का आग्रह किया था.

    इस पूर्व हरफनमौला ने कहा कि वह इन चीजों के लिए हालांकि पत्रकारों और खिलाड़ियों को दोषी नहीं मानते है. उन्होंने कहा, ‘‘ हालांकि मैं लोगों (पत्रकारों और खिलाड़ियों) को दोष नहीं देना चाहता हूं, क्योंकि आज के खिलाड़ियों पर जो सुर्खियां मिलती है, वैसा हमारे समय में नहीं था. हमारे समय में प्रिंट मीडिया के अलावा टेलीविजन (दूरदर्शन) शुरू ही हुआ था. लेकिन आज मीडिया और सोशल मीडिया में मौजूद मंचों के साथ, खेल को कवर करने वाले समाचार चैनलों की संख्या अविश्वसनीय रूप से काफी ज्यादा है.’’

    यह भी पढ़ें : Photos: धर्मशाला में जब कुलदीप और रोहित का दिखा खास अंदाज, टशन में नजर आए मोहम्मद सिराज

    IND vs SL: श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया में दिखेगा बड़ा बदलाव, पुजारा-रहाणे की जगह भरेंगे ये बल्लेबाज

     

    .



    Source link

    spot_img